Thursday, June 17, 2021
Homeसतनामारुतिनगर में पति की मौत से दुखी महिला ने फांसी लगा कर...

मारुतिनगर में पति की मौत से दुखी महिला ने फांसी लगा कर दी जान, बच्चे का गला दबा कर की मारने की कोशिश

सतना, भास्कर हिंदी न्यूज/ कोलगंवा थानान्तर्गत मारुति नगर में शनिवार की देर रात विवाहित महिला ने फांसी लगा कर जान दे दी। मृतिका ने सुसाइड नोट भी छोड़ा है जो पुलिस के पास है। आस-पड़ोस में चल रही चर्चाओं की मानें तो उक्त महिला अपने पति की मौत से दुखी थी तथा शनिवार को उसकी बरखी का कार्यक्रम था। जिसके बाद महिला ने आत्महत्या कर ली।

यह है मामला

घटना के संबंध में हासिल जानकारी के अनुसार स्थानीय मारुतिनगर में ज्योति त्रिपाठी पत्नी स्व. बालेंद्र त्रिपाठी उम्र 35 वर्ष अपने परिवार के साथ रहती थी। मृतिका के दो बच्चे भी हैं जिनमें से छोटे बच्चे को दिल की बीमारी है था वह दिव्यांग भी है। बताया जाता है कि मृतिका के पति बालेंद्र ने कुछ दिन पहले कोरोना से लड़ने के लिए वैक्सीनेशन करवाया था। इसके बाद उसे बुखार आने लगा तथा इसके बाद उसकी तबियत बिगड़ती गई। कुछ दिन पूर्व उसे अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। जहां से ठीक होकर वह घर वापस आ गया। इसके कुछ दिनों बाद फिर उसकी तबियत बिग़ड़ी और उसकी मौत हो गई। पति की मौत से ज्योति का गहरा सदमा पहुंचा था। परिजनों के मुताबिक वह अक्सर कहा करती थी कि जब उसका पति ही नहीं रहा तो उसके जीवित रहने का क्या फायदा। परिजन मृतिका को सांत्वना देने की पुरजोर कोशिश करते रहे।

छोटे बच्चे के स्वास्थ्य को लेकर भी थी दुखी

परिजनों के मुताबिक मृतिका अपने पति की मौत के बाद अपने-आप को बेसहारा समझने लगी थी। मृतिका के छोटे बच्चे को हार्ट प्राब्लम थी तथा वह ठीक से चल भी नहीं पाता है। शनिवार को जब पति बालेंद्र की बरखी का कार्यक्रम समाप्त हो गया तो मृतिका ज्योति अपने छोटे बच्चे को लेकर कमरे में चली गई और देर रात उसने खुद को और बच्चे को समाप्त कर देने का आत्मघाती फैसला ले लिया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक मृतिका ज्योति ने पहले लिए फांसी का फंदा बनाया तथा अपने बच्चे की गर्दन को हाथ से दबाकर फंदे पर झूल गई। जब तक उसकी सांसे चलीं तब तक तो उसने बच्चे का गला दबाये रखा परंतु जैसे ही मृतिका की सांसे टूटीं बच्चा उसके हाथ से छूट कर नीचे गिर गया, और उसकी जान बच गयी। सुबह जब काफी देर तक मृतिका के कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो परिजनों ने खिड़की से अंदर का दृश्य देखा तो उनका कलेजा कांप गया। ज्योति फांसी लगा कर खुदकुशी कर चुकी थी तथा उसका बच्चा बेहोशी की हालत में नीचे पड़ा था। आनन-फानन ने में परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। कोलगंवा पुलिस मौके पर पहुंची और शव उतरवा कर पंचनामा व पीएम के लिए भेज दिया। बेहोशी की हालत में बच्चो को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसका उपचार किया जा रहा है। इस घटना से आस-पास के लोग सनाके की स्थिति में हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments