Homeविंध्य क्षेत्रघर-घर गूंजे-नाशे रोग हरे सब पीड़ा जो सुमिरे हनुमत बलबीरा

घर-घर गूंजे-नाशे रोग हरे सब पीड़ा जो सुमिरे हनुमत बलबीरा

अनूपपुर,भास्कर हिंदी न्यूज़/ कोरोना वैश्विक महामारी से सभी पर संकट मंडराया हुआ है। भगवान श्री राम के अनन्य भक्त हनुमान जी का मंगलवार को जन्मोत्सव असीम उल्लास और भक्ति भाव के साथ लॉकडाउन में शासन के नियमों को अपनाते हुए मनाया गया। वीर बजरंग बली की पूजा आराधना करते हुए भक्तों ने कोरोना से संकट दूर करने की विनती की। नाशै रोग मिटे सब पीरा, चालीसा की यह पंक्तियां आज मुख्य रूप से घर-घर में गूंज उठी। परिवार के लोगों ने एक साथ बैठकर कोरोना महामारी से छुटकारा दिलाने की प्रार्थना की और इसी तरह मंदिरों में भी विनती आमजन के सुरक्षार्थ की गई। मंदिरों में भीड़ कम रही मंदिर खुले होने के बावजूद द्वार पर ही मत्था टेक कर अपने परिवार के अच्छे स्वास्थ्य लाभ की कामना की गई।

इस वर्ष पूजा सभी हनुमान मंदिरों में सादगी के साथ मनाई गई सीमित लोगों ने जयंती की पूजा संपन्ना कराई। पूजा पूरे विधि विधान से हुए मंदिरों में हनुमान जी की प्रतिमा का सिंदूर ,चमेली के तेल, चांदी के वर्क से श्रृंगार किया गया जिसे भक्त चोला चढ़ाना कहते हैं। नगर के अनूपपुर बस्ती अमहाईटोला हनुमान मंदिर में चोलावंदन ,हवन अनुष्ठान के बाद आरती हुई और झंडा वंदन किया गया। यहां के पुजारियों ने बताया कि दोपहर 12 बजे हनुमान जी का जन्म हुआ था इसलिए सुबह 11 बजे चोला अर्पित करके 12 बजे महाआरती की गई। मंदिरों में भंडारे का आयोजन कहीं नहीं रखा गया था, पूजन के बाद प्रसाद लेकर सभी अपने घरों को रवाना हो गए। घर पर ही लोगों ने इस बार श्रद्धा के साथ हनुमतलला का चालीसा पाठ किया। नगर के रेलवे कॉलोनी, खेरमाई मढ़िया, इंदिरा तिराहा, बस्ती के रजहा तालाब, अमहाई टोला सहित अन्य हनुमान मंदिरों में पूजा -आराधना, हवन अनुष्ठान आरती करके विश्व के समस्त प्राणियों के स्वास्थ्य की कामना की गई।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments