Thursday , June 20 2024
Breaking News

गाजा शहर को नरक बनाने के बाद इजरायली सेना अब उत्तरी गाजा के शहर राफा में बड़े हमले की तैयारी कर रही

लेबनान
गाजा पर इजरायल और हमास आतंकियों के बीच जंग शुरू हुए आठ महीने से ज्यादा का वक्त हो गया है। गाजा शहर को नरक बनाने के बाद इजरायली सेना अब उत्तरी गाजा के शहर राफा में बड़े हमले की तैयारी कर रही है। इजरायल और हमास के बीच लगातार बढ़ रहे संघर्ष के बीच ईरान समर्थित आतंकी समूह हिजबुल्लाह ने इजरायल को बड़ी चेतावनी दी है। हिजबुल्लाह ने चेतावनी दी है कि वह इजरायल पर बहुत बड़े हमले की तैयारी कर रहा है। लेबनान आतंकी समूह के शीर्ष नेता ने एक बयान में कहा कि इजरायल को हम बड़ा सरप्राइज देने जा रहे हैं, जिसे वह हमेशा याद रखेगा। हिजबुल्लाह की चेतावनी के बाद इजरायल से लेकर अमेरिका तक में हलचल तेज हो गई है।

टेलीविजन संबोधन में हिजबुल्लाह कमांडर नसरल्लाह ने चेतावनी दी कि वह फिलिस्तीनी मुद्दे पर हमास के साथ खड़ा है और हमेशा रहेगा। उसने यह भी कहा कि इजरायल को बड़े सरप्राइज के लिए तैयार रहना चाहिए। हम जल्द ही ऐसा बदला लेने वाले हैं, जिसे इजरायल हमेशा याद रखेगा। बता दें कि हिजबुल्लाह लेबनान में हुए गृहयुद्ध के दौरान मजबूत ताकत के साथ देश में उभरा है। हिजबुल्लाह की लेबनान में तूती बोलती है। ईरान पर हिजबुल्लाह को हथियार और पैसे की मदद करने के आरोप लगते रहे हैं।

गाजा पर पूरी तरह से फेल हुआ इजरायल
नसरल्लाह ने अपने बयान में कहा कि पिछले साल 7 अक्तूबर को हमास द्वारा इजरायली इलाकों में जो आक्रमण किया गया, वो ऐतिहासिक था और उस हमले में हमास ने इजरायल को बड़ी चोट पहुंचाई। वहीं, उसके उलट जवाबी कार्रवाई में इजरायल ने गाजा में जो कुछ किया या कर रहा है, वह उसके लिए बड़ी उपलब्धि हो लेकिन, नेतन्याहू भी जानते हैं कि गाजा पर उनके अरमान और मंसूबे कामयाब नहीं हो पाए। गाजा पर भीषण कत्लेआम के बावजूद गाजा में वह शासन करने या उस पर कौन हूकूमत करेगा, इस फैसले को लेने में असक्षम हैं।

फिलिस्तीन को मान्यता मिलना भी इजरायल के मुंह पर तमाचा
नसरल्लाह ने कहा, इजरायल के अपने नेताओं ने स्वीकार किया है कि उन्होंने गाजा युद्ध में अपना कोई भी लक्ष्य हासिल नहीं किया। वह इजरायली राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रमुख तजाची हानेग्बी के उस बयान का जिक्र कर रहे थे कि उन्होंने कोई भी रणनीतिक लक्ष्य हासिल नहीं किया है और इसमें कई साल लग सकते हैं। नसरल्ला ने आगे कहा कि इजरायल की विफलता उसके पश्चिमी दोस्तों की भी नाकामयाबी है। मिडिल ईस्ट मॉनिटर ने उनके हवाले से कहा, "कई यूरोपीय देशों द्वारा फिलिस्तीनी राज्य की मान्यता मिलना भी उनके लिए बड़ी क्षति है।"

नेतन्याहू पर गिरफ्तारी का खतरा
उधर, गाजा में भीषण नरसंहार को लेकर बेंजामिन नेतन्याहू समेत इजरायली अधिकारी पहले ही अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय के निशाने पर हैं। आईसीसी के समक्ष कुछ देशों ने नेतन्याहू के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करने का अनुरोध किया है। हालांकि आईसीसी अपराध मामले में नेतन्याहू को आरोपी बना चुकी है लेकिन, कार्रवाई में कितना समय लगेगा, इसका सटीक अंदाजा लगाना मुश्किल है। पिछली बार यूक्रेन में नरसंहार के लिए करीब दो महीने की कार्रवाई के बाद पुतिन के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी हो पाया था।

 

About rishi pandit

Check Also

मालदीव का दौरा करने वाले भारतीय पर्यटकों की संख्या में इस वर्ष जून में 2.5 प्रतिशत की गिरावट आई

माले मालदीव का दौरा करने वाले भारतीय पर्यटकों की संख्या में इस वर्ष जून में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *