Wednesday , May 18 2022
Breaking News

Satna: शांतिपूर्ण चुनाव के लिये प्रतिबंधात्मक कार्यवाहियां प्रारंभ होंगी

  • कार्यपालिक मजिस्ट्रेट और पुलिस अधिकारी करें संयुक्त भ्रमण
  • नगरीय निकाय और पंचायत के आसन्न चुनावों की तैयारियों संबंधी बैठक

 

सतना, भास्कर हिंदी न्यूज़/ राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा प्रदेश में नगरीय निकाय और पंचायतों के आम चुनावों की तैयारियों के निर्देशानुसार शुक्रवार को कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट अनुराग वर्मा की अध्यक्षता में संपन्न पुलिस अधिकारियों एवं कार्यपालिक मजिस्ट्रेट की संयुक्त बैठक में आसन्न पंचायत एवं नगरीय निकाय के चुनावों के दृष्टिगत प्रतिबंधात्मक कार्यवाहियां प्रारंभ करने के निर्देश दिए गए हैं। कार्यपालिक मजिस्ट्रेट और पुलिस अधिकारियों को ग्राम पंचायत एवं नगरीय निकायों के वार्डों में संयुक्त भ्रमण कर वर्नरेबल और क्रिटिकल क्षेत्रों का आंकलन भी करने के निर्देश दिए गए हैं। पंचायत एवं नगरीय निकाय चुनावों की तैयारी बैठक में पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह, अपर कलेक्टर राजेश शाही, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एसके जैन, सभी एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, एसडीओपी, डिप्टी कलेक्टर नीरज खरे, उप पुलिस अधीक्षक और थाना प्रभारी उपस्थित थे।
कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराग वर्मा ने कहा कि राज्य निर्वाचन आयुक्त द्वारा वीडियो कांफ्रेंसिंग में दिए गए निर्देशानुसार पंचायत और नगरीय निकाय के चुनाव मई-जून माह में कराए जाने हैं। मई के अंतिम सप्ताह तक अधिसूचना जारी होने की संभावना है। अधिसूचना जारी होते ही आदर्श आचरण संहिता प्रभावशील हो जाएगी और जिले में सभी आवश्यक प्रतिबंधात्मक कार्यवाहियां भी प्रारंभ होंगी। कलेक्टर ने कहा कि पूरा प्रशासकीय तंत्र अब इलेक्शन मोड में आकर तैयारियां प्रारंभ करे। सीमित समय में पंचायत और नगरीय निकाय के चुनाव शांतिपूर्ण, विधि-सम्यक और भय रहित वातावरण में सुनिश्चित कराना है।

कलेक्टर ने कहा कि कानून और व्यवस्था की दृष्टि से ग्राम पंचायत स्तर और नगरीय निकायों के वार्ड स्तर पर पुलिस और राजस्व के अधिकारी संयुक्त भ्रमण करें। मतदान केंद्रों की स्थिति, वर्नरेबल, क्रिटिकल मतदान केंद्रों की पहचान कर विधि-सम्यक कार्यवाहियां सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि संवेदनशील और अति-संवेदनशील केंद्रों की पहचान और चिन्हित करने का कार्य वास्तविक और सभी परिस्थितियों को ध्यान में रखकर गंभीरतापूर्वक करें। जिले में नगरीय निकायों के चुनाव पहले और दो चरणों में तथा पंचायत के चुनाव तीन चरणों में होने की संभावना है। पंचायत चुनावों एवं नगरीय निकायों के चुनाव के लिए आवश्यक व्यवस्था पूर्ण कर ली गई है। जिले में पंचायत चुनावों के लिए मत पेटी और नगरी निकाय चुनावों के लिए ईवीएम की पर्याप्त उपलब्धता है।

पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह ने कहा कि इस बार सीमित समय में पंचायत और नगरीय निकाय के चुनाव एक साथ संपन्न कराने हैं। इसलिए हर कार्यवाही को समयबद्ध रुप से पूर्ण करें। प्रतिबंधात्मक कार्यवाहियां, शस्त्र को जमा करने, बांड ओवर की 107, 16 और 110 की कार्यवाही करें। आगामी 4-5 दिनों में पुलिस और राजस्व अधिकारी संयुक्त रुप से वार्ड और गांवो का भ्रमण करें और प्रिविटिव कार्यवाहियां करें। बांड ओवर की कार्यवाही मौके पर करायें। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एसके जैन ने कहा कि चुनाव आयोग द्वारा चाही जाने वाली सभी जानकारियां तैयार कर समय-सीमा में प्रेषित कराएं।

अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी राजेश शाही ने बताया कि जिले में पंचायतों के चुनाव की तैयारी और कार्यवाहियां पूर्व से ही जारी हैं। नगरीय निकाय और पंचायतों के आम चुनाव से संबंधित आवश्यक व्यवस्थाएं और कार्यवाहियां चिन्हांकित कर ली गई हैं। उन्होंने बताया कि जिले में पंचायत और नगरीय निकायों के लिए आर.ओ, ए.आर.ओ नियुक्त हैं। मतगणना स्थल, स्ट्रांग रूम, मतदान केंद्र आदि सभी चिन्हांकित कर लिए गए हैं। जिले में पंचायती राज संस्थाओं के 8 जनपदों में 191 जनपद सदस्य, जिला पंचायत के 26 सदस्य, 693 ग्राम पंचायतों के सरपंच और 11 हजार 796 पंच पदों के चुनाव होने हैं। जिले की 2 पंचायत पालदेव और पडमनिया में चुनाव नहीं होंगे। ग्रामीण क्षेत्र में 6 लाख 97 हजार 218 पुरुष, 6 लाख 41 हजार 922 महिला और अन्य 20 मतदाता सहित 13 लाख 39 हजार 160 मतदाता चुनाव में हिस्सा लेंगे। जिले के 8 जनपद क्षेत्रों में 2432 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। जिनमें 602 संवेदनशील, 153 अति-संवेदनशील और 1677 सामान्य है।

नगरीय निकाय के चुनावों में सतना नगर निगम, नगर पालिका मैहर सहित कुल 12 नगरीय निकाय संस्थाओं के चुनाव होंगे। इनमें एक महापौर और 11 नगर परिषद अध्यक्ष तथा 219 वार्ड पार्षद के चुनाव होंगे। नगरीय क्षेत्रों में 1 लाख 98 हजार 503 पुरुष, 1 लाख 84 हजार 723 महिला एवं 17 अन्य मतदाता सहित कुल 3 लाख 83 हजार 243 मतदाता हैं। नगरीय निकायों के लिए 537 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। जिनमें 72 संवेदनशील और 465 सामान्य है। सतना नगर निगम में 290 मतदान केंद्र हैं। जिनमें 32 संवेदनशील और 258 सामान्य है। ग्रामीण क्षेत्रों में 2432 मतदान केंद्रों के लिए 604 रूट और नगरीय क्षेत्रों में 537 मतदान केंद्रों के लिए 136 रूट चार्ट बनाए गए हैं। ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 8 जनपदों में 247 सेक्टर मजिस्ट्रेट और नगरीय निकायों में कुल 60 सेक्टर मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं। ईवीएम मशीनों की एफएलसी 16 मई से प्रारंभ कर दी जाएगी। इसके अलावा स्ट्रांग रूम, मतगणना स्थल, प्रशिक्षण स्थल, सामग्री वितरण एवं जमा स्थल चिन्हांकित कर लिए गए हैं।

About admin

Check Also

Satna: नेट पात्रता परीक्षा के लिए आवेदन 20 मई तक

सतना, भास्कर हिंदी न्यूज़/ उच्च शिक्षा विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर, लाइब्रेरियन, स्पोर्ट्स ऑफिसर आदि के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *